ITR income tax return आइटीआर क्या है ।

आइटीआर ITR income tax return क्या है :-

आइटीआर को कहते हैं इनकम टैक्स रिटर्न मतलब कि जो आपकी इनकम है उस पर जो भी टैक्स भरना है वह आप सरकार को देते हो मतलब कि आप सरकार को बताते हो कि आप इतना पैसा हर साल काम आते हो और उस पर जो भी टैक्स होता है सरकार के अनुसार आपको उस टैक्स को देना पड़ता है अब तो सब बात यहां पर आती है कि अगर आपकी इनकम कम है क्या फिर आपकी इनकम ज्यादा है तो कौन लोग इसे भर सकते हैं और कौन से लोग इसे नहीं भर सकते हम आपको बताना चाहेंगे कि आपकी इनकम कितनी भी कम हो या फिर कितने भी ज्यादा हो आपको आइटीआर भरना चाहिए दोस्तों आइटीआर भरने की जो सीमा है उसको आपको जरूर समझना चाहिए यदि आपकी आय ढाई लाख रुपए से कम है तो आप आइटीआर भर सकते हैं अगर आपकी आय ढाई लाख से ऊपर है तब भी आप आइटीआर भर सकते हैं अगर आपकी आईडी अलग से कम है तो आप आईटीआर भरे या ना भरे कोई फर्क नहीं पड़ता है लेकिन अगर आप आइटीआर भर देते हैं तो आपको उसके और बेनिफिट्स मिल जाएंगे और क्या बेनिफिट होंगे हम आपको इस ब्लॉक में बताएंगे और जिन लोगों की इनकम ढाई लाख से ज्यादा है उनको आइटीआर भरना कंपलसरी है या तो हो गई कि आइटीआर फॉर्म भर सकता है

आइटीआर भरने के फायदे :-

अगर आपकी इनकम कम थी या ज्यादा थी लेकिन आपने आइटीआर भर दिया तो उसके फायदे बहुत ज्यादा मिलने वाले हैं जैसे आप मान लीजिए कि आपको फ्यूचर में घर लेना है और उसमें आपको लोन की आवश्यकता है तो आप अगर लोन लेने बैंक में जाएंगे तो बैंक वाले आपसे करेंगे कि आप अपने 3 सालों का कम से कम आईटीआर लेकर आइए वह आपसे यह डिमांड करेंगे और अगर आपने नहीं दिया तो वह आपको लोन नहीं देंगे तो आपको यहां पर सबसे ज्यादा जरूरी हो जाता है लोन लेना फ्यूचर में जो आप कि पैसे की रिक्वायरमेंट है किसी कारण आपके पास पैसा नहीं है तो आप बैंक के द्वारा लोन ले सकते हैं अपने आइटीआर के माध्यम से अगर आपको लोन अप्रूव हो जाता है तो आप आसानी से घर खरीद पाएंगे और लोन उन लोगों को जल्दी से अप्रूवल नहीं करता है जिन लोगों ने आईटीआर भरा है अगर आप लोन के बारे में सोच रहे हैं तो आपके पास कम से कम 3 सालों का आइटीआर होना जरूरी है कभी-कभी किसी ना किसी स्टेज पर लोगों को पैसे की जरूरत पड़ जाती है तो बैंक आपके साथ खड़ी रहती है अगर आपने आईटीआर भरा है तो तो आपको यह बात समझ आ गई होगी कि आइटीआर का कितना बड़ा बेनिफिट है लाइफ में किसी को पता नहीं होता है कि कब पैसे की जरूरत आ जाए या तो सिर्फ होम लोन है बैंक में और काफी सारी लोन दी जाती है जैसे कि पर्सनल लोन है आप अपने पर्सनल काम के लिए लोन ले सकते हैं आप कार लोन भी ले सकते हैं तो जितनी भी लोन है वह आपके इनकम के बेस पर दी जाती है और इनकम सो करने का तरीका होता है आइटीआर और आइटीआर आपसे जरूर मांगा जाता है जब आप बैंक में लोन के लिए जाते हैं तो

आइटीआर कैसे भरते हैं :-

इनकम टैक्स रिटर्न क्या होता है यह कैसे भरा जाता है इसको लेकर सभी जानकारियां विस्तार से

आप आइटीआर ऑनलाइन माध्यम से भर सकते हैं और ऑफलाइन भी भर सकते हैं अगर आपको ऑनलाइन फॉर्म भरना आता है तो अच्छी बात है अगर नहीं आती है तो आप इनकम टैक्स के टोल फ्री नंबर पर फॉर्म की सारी जानकारी ले सकते हैं

लोन की सुविधा कौन ले सकता है

लोन की सुविधा वही लोग ले पाते हैं जो अपनी इनकम को प्रूफ

कर सकता है तो लोन की सुविधा हर किसी को नहीं मिलती है उन्हीं को मिलती है जिन्होंने आइटीआर का फॉर्म फिल करा होता है

आज हमने सीखा :-

मैं आशा करता हूँ आप लोगों को ( आइटीआर ITR income tax return क्या है ) के बारे में समझ आ गया होगा. मेरा आप सभी पाठकों से गुजारिस है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share करें, जिससे की हमारे बिच जागरूकता होगी और इससे सबको बहुत लाभ होगा.

मुझे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नयी जानकारी आप लोगों तक पहुंचा सकूँ.लेकिन फिर भी अगर आपको हमारी इस पोस्ट मे आइटीआर ITR income tax return क्या है । in hindi में कहीं कोई कमी दिखाई दे तो कृपया कमेंट बॉक्स में अपनी राय दे और हमें उस कमी को सुधारने में मदद करें ,धन्यवाद यदि आपको मेरा यह लेख अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

Leave a Comment